मनोज तिवारी ने अपने गीतों का मुखड़ा सुनाकर विद्यार्थियों को झुमाया

62 Views
Read Time:4 Minute, 32 Second

नवयुवकों से सोशल मीडिया को सतर्कता से उपयोग करने का किया आग्रह
काशी विद्यापीठ के शताब्दी वर्ष महोत्सव का समापन

वाराणसी । महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के शताब्दी वर्ष महोत्सव के अंतिम दिन मंगलवार को मानविकी संकाय के प्रांगण में समापन समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध भोजपुरी गायक, अभिनेता और सांसद मनोज तिवारी थे। उन्होंने कहा कि युवाओं को विनम्र रहना चाहिए। साथ ही फेक न्यूज से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया को सतर्कता से उपयोग करना चाहिए। केवल सही तथ्यों को ही रखना चाहिए। उन्होंने काशी विद्यापीठ के छात्रों से अपने विश्वविद्यालय के गौरव को और आगे बढ़ने के लिए आग्रह भी किया। उन्होंने खुद को आंकलन करने, संस्कारी और अनुशासित रहने का संदेश दिया।

इस अवसर पर भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने अपने भोजपुरी गीतों का मुखड़ा सुनाकर आनंदित कर दिया। उन्होंने गंगा मइया के समइया से बचा ल ये भइया, बेटी जन्मावल परहेज हो गइल, रास्ता छोड़ मंत्री जी गाड़ी आवता, खेत खाय गाय जोलहा पिटाता, चट दे मार देली फट दे तमाचा, ही ही हंस देलन रिंकिया के पापा, जिय हो बिहार के लाला, जिय हो हाजार साला आदि गीतों का मुखड़ा सुनाया। उन्होंने काशी विद्यापीठ के छात्रों के लिए गाया, काशी विद्यापीठ के नाम गगन में लहराव ये भैया, गीत सुनाकर संदेश दिया।
अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो टीएन सिंह ने काशी विद्यापीठ के शताब्दी वर्ष सामरोह के समापन समारोह में आने के लिए मनोज तिवारी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि काशी विद्यापीठ की गौरवशाली परम्परा रही है। इसे आगे बढ़ाना यहां के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों की जिम्मेदारी है।
समारोह का समापन राष्ट्र गान से हुआ।

दीपप्रज्वलन, मंगलाचरण व कुलगीत से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर शताब्दी समारोह के विभिन्न कार्यक्रमों के विजेता छात्र छात्राओं को मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कृत किया गया। जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो योगेंद्र सिंह द्वारा लिखित प्राचीन भारतीय इतिहास के स्रोत पुस्तक का मुख्य अतिथि ने विमोचन भी किया।
अतिथियों का स्वागत कार्यक्रम के संयोजक डॉ बंशीधर पाण्डेय, कुलसचिव डॉ साहब लाल मौर्य ने धन्यवाद प्रस्तुत किया। संचालन डॉ राहुल गुप्ता ने किया।

इस अवसर पर डॉ अल्पना सिंह, जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो योगेंद्र सिंह, मानविकी संकायाध्यक्ष प्रो शशि देवी सिंह, प्रो आरपी सिंह, प्रो अजीत शुक्ला, प्रो अशोक मिश्रा, प्रो वंदना सिन्हा, प्रो सत्या सिंह, प्रो सभाजीत, प्रो ब्रजेश सिंह, डॉ के के सिंह, प्रो सुशील गौतम, प्रो मलिका पांडेय, प्रो गोपाल नायक, वित्त अधिकारी राधेश्याम, कुलानुशासक संतोष गुप्ता, प्रो ओमप्रकाश सिंह, प्रो रंजन , डॉ विनोद सिंह, डॉ अरुण शर्मा, हरिश्चंद्र, डॉ सुमन ओझा, केडी दुबे, अमलेश शुक्ला आदि उपस्थित थे।

1 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

काशी विद्यापीठ छात्रसंघ को लेकर एनएसयूआई ने की अपने प्रत्याशियों की घोषणा

Thu Feb 18 , 2021
एनएसयूआई उत्तर प्रदेश की एक महत्वपूर्ण बैठक दुर्गाकुंड स्थित प्रदेश कार्यालय पर ली गई जिसमें महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव को लेकर बैठक आहूत हुई,जिसमें प्रमुख रूप से भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के पैनल के लिए प्रत्याशियों का चयन हुआ।   बैठक राष्ट्रीय सचिव अविनाश यादव,प्रदेश अध्यक्ष […]