कोरोना कंट्रोल के लिये प्रधानमंत्री के विज़न ‘ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट’ को वाराणसी में पूरी तरह से लागू किया गया है-जिलाधिकारी

257 Views
Read Time:5 Minute, 33 Second

गांव-गांव, गली-गली बांटी जा रही है कोरोना लक्षण युक्त मरीजों को कोविड मेडिसिन किट-कौशल राज शर्मा

कल से बढ़ाई जाएगी रफ्तार

अब तक 15000 कोरोना लक्षणयुक्त मरीजों को मिली कोविड मेडिसिन

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में जहां भी कोरोना लक्षणयुक्त व्यक्ति मिल रहे हैं, वे चाहे कोविड पॉजिटिव हों, उनकी जांच रिपोर्ट आने में समय हो या उनको कोई भी सिम्पटम हों तो उन्हें कोरोना से बचाव के लिए ‘कोरोना मेडिसिन’ तत्काल उपलब्ध कराई जा रही है। अब तक पिछले एक सप्ताह में कुल 15,000 मेडिसिन किट स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रेस्पॉन्स टीम (आरआरटी) और 20 किराये के वाहनों से स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से वितरित हुई हैं। दो स्वयंसेवी संस्थाओ का सहयोग प्राप्त कर उन के माध्यम से पंद्रह सौ लोगों तक मेडिसिन किट निशुल्क पहुंचाई जा चुकी है।
जिलाधिकारी ने बताया कि आगामी दिनों में कोविड सम्भावित लक्षणयुक्त 25,000 और लोगों तक दवा उपलब्ध कराई जा रही है । इस कार्य हेतु शहरी क्षेत्र में जिला आपूर्ति विभाग के कोटेदारों द्वारा 4500 कोविड मेडिसिन किट बाटी जा रही है। आज उन्हें दवाई उपलब्ध करा दी गई है, वे इसे निशुल्क अपने क्षेत्र में सिम्पटम वाले लोगो को वितरित करेंगे। पिछले दो दिनों में उनसे अपने क्षेत्र के सिम्पटम वाले लोगो की संख्या मांगी गई थी, जो लगभग 4500 प्राप्त हुई। इसके अतिरिक्त नगर स्वास्थ्य अधिकारी के देखरेख में नगर निगम के वार्डों में गठित निगरानी समितियों के माध्यम से 3000 कोविड मेडिसिन किट वितरित की जा रही है । इसमें वार्ड के पार्षदों का सहयोग लिया जाएगा। इसके साथ ही सभी ब्लॉकों के ग्रामीण क्षेत्रों में आशा, एएनएम तथा ग्राम सचिवों के माध्यम से 10,000 मेडिसिन किट एवं शहरी क्षेत्रों में स्वाथ्य कर्मियों द्वारा 7800 किट का वितरण किया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री के विज़न ‘ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट’ को वाराणसी में पूरी तरह से लागू किया किया गया है ताकि जल्द से जल्द कोरोना पॉज़िटिव व्यक्तियों की संख्या को कम किया जा सके। अब उद्देश्य ये है कि पाजिटिविटी प्रतिशत ज्यादा होने के कारण बिना टेस्ट का इंतजार किये सभी सिम्पटम वाले व्यक्तियों को दवाई का ट्रीटमेंट मिलने लगे और व्यक्ति अस्पताल जाने से बच सके। इसी कार्य के लिए पार्षदों, कोटेदारो, ग्राम विकास के कर्मचारियों का सहयोग लिया जा रहा है।
पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया पूर्ण होने पर अब BDO, और सभी ग्राम पंचायत कर्मचारी इस कार्य के लिए उपलब्ध हो जाएंगे।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) डॉ संजय राय ने बताया कि कोविड मेडिसिन किट लक्षण विहीन संभावित कोविड मरीजों में वितरित की जा रही है। आर आर टी टीमों द्वारा बांटे जाने वाले मेडिसिन किट में अजिथ्रोमायसीन, आइवरमेक्टिन, पैरासिटामाल,विटामिन डी-3, विटामिन सी, बीकाम्पलेक्स जिंक आदि दवा उपलब्ध है। उन्होने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए लोगों को पब्लिक एड्रेस सिस्टम (पीएएस) के माध्यम से बताया जा रहा है कि यदि किसी भी व्यक्ति में कोविड- बीमारी के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो सचल आरआरटी टीम एवं नजदीकी प्राथमिक/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आकर दवा किट प्राप्त कर सकते हैं। सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रातः 8 बजे से 5 बजे तक पूर्व की तरह केंद्र पर ही निशुल्क दवाई वितरण कार्य करेंगे। सरकारी निशुल्क मेडिसिन किट के अलावा 43 दवा की दुकानों पर यह 400 से 450 रुपये तक में उपलब्ध है। इनके अलावा सभी सामान्य दवा की दुकानों पर भी ये दवाई उचित मूल्य पर उपलब्ध है।

0 0

मुख्य समाचार