7 मार्च को विशेष गंगा सफाई अभियान प्रस्तावित है-जिलाधिकारी

351 Views
Read Time:4 Minute, 42 Second

गंगा नदी के 8-9 किलोमीटर के क्षेत्र में प्रत्येक पांच-पांच मीटर पर 1-1 वालंटियर लगाते हुए लगभग 1600-1800 वॉलिंटियर लगेगे

10 मीटर गहरे गंगा नदी के चौड़ाई के क्षेत्रफल में से गंगा नदी के पानी से लाकर पूरा घाट की सीढ़ियों तक सफाई होगा

कूड़े को एकत्रित करके एक सुव्यवस्थित स्थान पर रख जाएगा तथा नगर निगम उसी समय उसका निस्तारण करेगा

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि वाराणसी में गंगा नदी सांस्कृतिक आस्था का केंद्र है तथा गंगा नदी लोगों की भावना से जुड़ी है। गंगा नदी को स्वच्छ रखा जाना अत्यंत आवश्यक है। आगामी दिनों में ग्रीष्म ऋतु शुरू हो रहा है तथा ग्रीष्म ऋतु में गंगा नदी का जलस्तर जब घटता है तो वह समय गंगा नदी की सफाई करने के लिए सबसे उपयुक्त समय होता है। इस मौसम में गंगा नदी की सफाई का अभियान शुरू करके लगभग प्रत्येक माह गंगा नदी एवं गंगा घाटों की सफाई हेतु बड़ा आयोजन किया जाएगा।


जिलाधिकारी ने बताया कि इस अभियान का प्रथम आयोजन 7 मार्च को किया जाना प्रस्तावित है। इस आयोजन में गंगा नदी के 8-9 किलोमीटर के क्षेत्र में प्रत्येक पांच-पांच मीटर पर 1-1 वालंटियर लगाते हुए लगभग 1600-1800 वॉलिंटियर की आवश्यकता है, जो 10 मीटर गहरे गंगा नदी के चौड़ाई के क्षेत्रफल में से गंगा नदी के पानी से लाकर पूरा घाट की सीढ़ियों तक सफाई कर दें तथा कूड़े को एकत्रित करके एक सुव्यवस्थित स्थान पर रख दें। कूड़े का निस्तारण नगर निगम के माध्यम से उसी समय किया जाएगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस आयोजन के लिए यह आवश्यक है कि इस अभियान में सभी लोगों की भागीदारी इस कार्य में हो, ताकि सभी लोग अपना जुड़ाव गंगा नदी से कर सकें। उन्होंने कहा कि वैसे तो यह कार्य नगर निगम के सफाई कर्मियों के द्वारा भी किया जा सकता है, परंतु लोगों की भावना को सीधे पर्यावरण की शुद्धता से जोड़ने हेतु इसे जनसहभागिता से कराए जाने का निर्णय लिया गया है।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों किया है कि इस कार्य हेतु 7 मार्च को प्रातः 7 से 8 तक एक घंटे गंगा नदी की सफाई करने हेतु जो भी वॉलिंटियर इच्छुक हो, उसमें 5-5 वॉलिंटियर का ग्रुप बनाते हुए एवं उनके ऊपर 1-1 सुपरवाइजर बनाते हुए उसकी सूची 3 मार्च को दोपहर तक प्रभागीय वनाधिकारी वाराणसी के व्हाट्सएप नंबर 9411255515 एवं उप प्रभागीय वनाधिकारी के व्हाट्सएप नंबर 9977574532 एवं ईमेल आईडी dfovrns@yahoo.in पर उपलब्ध कराएं। इसके साथ ही जो भी वॉलिंटियर इस कार्य हेतु इच्छुक होंगे, उनका 3 मार्च को अपराहन 4:30 बजे कमिश्नरी ऑडिटोरियम सभागार में बैठक कर आवश्यक जानकारी दी जाएगी। प्रथम सफाई हेतु उचित स्थान/घाट का चयन वॉलिंटियर करना चाहे तो प्रथम वरीयता उसी स्थान/घाट को दिया जाएगा। यदि वह स्थान/घाट अन्य किसी संस्था के लिए लिया गया हो तो प्रथम विकल्प वाले स्थान/घाट को सफाई हेतु लिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि 7 मार्च को गंगा नदी की सफाई कार्यक्रम हेतु प्रातः 6 बजे रिपोर्ट करना होगा तथा प्रातः 7 से 8 तक सफाई के दौरान गंगा नदी की स्वच्छता हेतु एक शपथ भी लिया जाएगा।

0 0

Next Post

संपूर्णानंद विश्वविद्यालय के 88वे दीक्षांत समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के हाथों से मेडल पाकर खुश स्पेन की रहने वाली मारिया

Tue Mar 2 , 2021
संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में 29 मेधावियों में 58 स्वर्ण पदक वितरित किए गए। बतौर मुख्य अतिथि मालदीव में पूर्व राजदूत और विदेश मंत्रालय में अपर सचिव अखिलेश मिश्र ने मेधावियों को स्वर्ण पदक वितरित कर जीवन मे सफलता के मार्ग पर आगे बढ़ते रहने के लिए […]

मुख्य समाचार